Page 1 of 1

प्रमाणिका छंद ----सुशील शर्मा

Posted: Fri May 25, 2018 4:47 pm
by admin
प्रमाणिका छंद
सुशील शर्मा

लघु गुरु लघु गुरु लघु गुरु
प्रत्येक चरण में 12 मात्राएं
चार चरण सम तुकांत

सुगंध का मिलान है।
हरा हरा वितान है।
नया नया मकान है।
सदा सुखी विधान है।

धरा सदा भरी रहे।
हरी रहे खरी रहे।
सुगंध से जड़ी रहे।
सत्य संग खड़ी रहे।

विदेह आज देह है।
सत्य संग नेह है।
वियोग भरा गेह है।
अतीत तो विदेह है।
- Show quoted text -