‘‘गाँव का मसीहा‘‘ उपन्यास का लोकार्पण---समीक्षक डाॅ0 हरिष्चंन्द्र शाक्य

Post Reply
User avatar
admin
Site Admin
Posts: 21569
Joined: Wed Nov 16, 2011 9:23 am
Contact:

‘‘गाँव का मसीहा‘‘ उपन्यास का लोकार्पण---समीक्षक डाॅ0 हरिष्चंन्द्र शाक्य

Post by admin » Thu Dec 06, 2018 7:25 pm

साहित्य समाचार
‘‘गाँव का मसीहा‘‘ उपन्यास का लोकार्पण।

-उपन्यास की समीक्षा करते हुए साहित्यकार, समीक्षक डाॅ0 हरिष्चंन्द्र षाक्य।
मैनपुरी
स्थानीय राजकीय जिला पुस्तकालय सभागार में जनपद के उन्यासकार डाॅ0 चिरोंजीराल यादव के सघः प्रकाषित उपन्यास गाॅव का मसीहा का लोकार्पण एवं परिचर्चा समारोह राज्य षिक्षक पुरस्कार से सम्मानित प्रधानाचार्य श्री हर प्रसाद यादव की अध्यक्ष्ता में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व कार्यक्रम अधिकारी आकाषवाणी, दिल्ली व वरिश्ठ साहित्यकार समीक्षक डाॅ हरी सिंह पाल ने तथा विषिश्ट अतिथि के रूप में लखनऊ के वरिश्ठ साहित्यकार व समीक्षक श्री राजेन्द्र वर्मा ने भाग लिया।
मुख्य अतिथि डाॅ0 हरी सिंह पाल ने कहा कि अच्छे बुद्धिजीवी षहर में ही नहीं गाँव में भी होते हैं इसका जीता जागता उदाहरण हैं डाॅ0 चिरोंजी लाल यादव। डाॅ0 यादव ने अपने उपन्यास ‘गाँव का मसीहा‘ में जो मुद्दे उठाये हैं उन पर पाठकों को मनन करने की आवष्यकता है। डाॅ0 पाल ने कहा कि उपन्यासकार जब अपने कथानक का चयन करते हैं तो अपने परिवेष से ही करते हैं। डाॅ0 चिरोंजी लाल यादव ने भी अपने उपन्यास का ताना बाना अपने परिवेष से ही बुना है। उन्होंने कहा कि उपन्यास बृहद जरूर है किन्तु इसमें कहीं भी षून्यता नहीं है। उन्होने कहा कि उपन्यास आत्म कथात्मक नहीं है और न ही उपन्यासकार की आत्मकथा है। यह अंचल विषेश को लेकर लिखा गया आंचलिक उपन्यास है।
विषिश्ट अतिथि श्री राजेन्द्र वर्मा (लखनऊ) ने कहा कि उपन्यास ‘गाँव का मसीहा’ नायक प्रधान उपन्यास है जिसका नायक कृश्णावतार हैं वह ग्रामवासी है तथा ग्रामीणों के कल्याण और उनके उत्थान का स्पप्न देखता है। उसका जीवन लोक कल्याण को समर्पित है। निर्धन कृशक परिवार में जन्मने के कारण वह संघर्शपूर्ण जीवन जीता है। वह जनता की सेवा का लक्ष्य लेकर ग्राम प्रधान का चुनाव जीतता है। उन्होंने कहा कि सिद्धांततः उपन्यास वास्तविक घटनाओं का काल्पनिक वर्णन होता है इस दृश्टि से उपन्यासकार को अपेक्षित सफलता मिली है।
साहित्यकार समीक्षक डा0ॅ हरिष्चन्द्र षाक्य ने कहा कि उपन्यास का नायक कृश्णावतार सही मायने में गाँव का मसीहा है जो आसुरी प्रवृतियों से निरंतर संघर्श करता है। प्रस्तुत उपन्यास का कथानक संघर्शो की दास्तान है जो घटना प्रधान उपन्यासों की श्रेणी में आता है। डाॅ0 षाक्य ने कहा कि समाज में व्याप्त भ्रश्टाचार, अन्याय, अत्याचार, षोशण, दबंगई, भूख, गरीबी, बेईमानी, पीड़ा, घुटन संत्रास आदि नें डाॅ0 चिरोंजी लाल यादव को भारी भरकम उपन्यास लिखने को मजबूर किया।
पूर्व प्राचार्य व वरिश्ठ साहित्यकार डाॅ0 षिवजी श्रीवास्तव ने कहा कि डाॅ0 चिरोंजी लाल यादव कृत ‘गाँव का मसीहा’ वर्तमान गाँव की राजनीति का यथार्थ ढंग से चित्रित करने वाला एक सषक्त उपन्यास है। संपूर्ण उपन्यास नायक कृश्णावतार के षोशण के विरूद्ध चलने वाले संघर्श की दास्तान है, कर्मयोगी नायक के जीवन का मूल मंत्र है सत्य के लिए संघर्श।
गाजियाबाद से पधारे साहित्यकार डाॅ0 राजीव कुमार पाण्डेय ने कहा कि डाॅ0 चिरोंजी लाल यादव का उपन्यास ‘गाँव का मसीहा’ अत्याचार, षोशण, भ्रश्टाचार, बेईमानी के खिलाफ आवाज उठाता है। जुल्म ढहाने वालों का प्रतिकार करने के लिए कृश्णावतार होता है वही है गाँव का मसीहा।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्रधानाचार्य श्री हर प्रसाद यादव ने कहा कि उपन्यास की पृश्ठभूमि 85प्रतिषत भारतवासियों की पीड़ा है। बाहुबली संस्कृति से निजात दिलाने के लिए उपन्यास लिखा गया है। इस उपन्यास का निश्कर्श नहीं निकला है जिसे पाठक निकालेंगे। कार्यक्रम के आरंभ में श्री राहुल कुमार षाक्य ने सरस्वती वन्दना प्रस्तुत की। कार्यक्रम में सर्व श्री प्रो0 कालीचरण यादव, डाॅ0 आनंद प्रकाष षाक्य आनंद, महिपाल सिंह कठेरिया सरल, डाॅ0 संजय यादव (पुस्तकालयाध्यक्ष), डाॅ0 दीन मोहम्मद दीन, बदन सिंह मस्ताना, विजेन्द्र सिंह सरल, रमाकान्त षाक्य, रवीन्द्र नाथ वर्मा, राजेन्द्र सिंह उर्फ राजू प्रधान, षोभाराम यादव, अनुज प्रताप सिंह, अरूण यादव, मनोज कुमार एड0, बहोरन सिंह यादव, रत्नेष कुमार, राजकुमार, रामनरेष आदि की उपस्थिति सराहनीय रही। कार्यक्रम का संचालन डाॅ0 हरिष्चंन्द्र षाक्य व डाॅ0 राजीव कुमार पाण्डेय ने संयुक्त रूप से किया। राजकीय जिला पुस्तकालय के पुस्तकालयाध्यक्ष डाॅ0 संजय यादव ने धन्यवाद ज्ञापित किया।
प्रस्तुति-
- डाॅ0 हरिष्चन्द्र शाक्य, ‘डी0लिट्0
षाक्य प्रकाषन, घंटाघर चैक
क्लब घर, मैनपुरी - 205001 (उ0प्र0)
स्थाई पता- ग्राम कैरावली, पोस्ट तालिबपुर
जिला- मैनपुरी (उ0प्र0)
मोवाइल नं0- 09411440154
ई मेल - ींतपेीबींदकतंेींालं11/हउंपसण्बवउ
Image
Mail your articles to swargvibha@gmail.com or swargvibha@ymail.com

Post Reply