Page 1 of 1

पथिक यह मेरा हिन्दुस्तान।-----अमन चाँदपुरी

Posted: Tue Jan 16, 2018 2:27 pm
by admin
गीत

पथिक यह मेरा हिन्दुस्तान।

उत्तर में गिरिराज हिमालय
तीन ओर सागर का जल है।
मिट्टी पूजी जाती माँ-सी
कण-कण जहाँ देव स्थल है।।
सूरज की अरुणाई पाकर करते पंछी गान।।
पथिक यह मेरा हिन्दुस्तान।।

पहन जहाँ केसरिया बाना
वीरों ने हैं प्राण गवायें
सरहद पर बेटों को भेजा
माताओं ने लाल लुटायें
हल्दीघाटी-पानीपत है वीरों का अभिमान।
पथिक यह मेरा हिन्दुस्तान।।

शस्य श्यामला धरा जहाँ पर
जन-जन का पोषण करती है।
सत्य, अहिंसा, भक्ति, मधुर स्वर
प्रेम भाव मन-मन भरती है।।
वेद-उपनिषद गुरुवानी सँग पढ़ते लोग कुरान।
पथिक यह मेरा हिन्दुस्तान।।

अमन चाँदपुरी