प्रभु मेरे जीवन को ---Manmohan Bhatia

Post Reply
User avatar
admin
Site Admin
Posts: 21569
Joined: Wed Nov 16, 2011 9:23 am
Contact:

प्रभु मेरे जीवन को ---Manmohan Bhatia

Post by admin » Fri Feb 09, 2018 3:41 pm

Image

प्रभु मेरे जीवन को ---Manmohan Bhatia

प्रभु मेरे जीवन को कुंदन बना दो, कोई खोट इस में रहने न पाए
करो मेरे जीवन मे ऐसा उजाला, हर श्वास हो तेरे चिंतन की माला
मेरे दिल की दुनिया को इतना बदल दो कि दुनिया तेरी मुझे गले से लगाये
घटाओं की रिमझिम पवन के तराने, लताओं का नाच और वृक्षों के गाने
नजर जिस तरफ जाए भगवन मेरी, अमर ज्योति तेरी उधर मुस्कुराये
प्रभु मेरे जीवन को कुंदन बना दो, कोई खोट इस में रहने न पाए
जगत को मैं अपना समझूं, परिवार को मैं तेरा उपकार समझूं
कुसंग, लोभ, अभिमान, द्वेष और आलस्य कोई इनमें मुझको सताने न पाए
प्रभु मेरे जीवन को कुंदन बना दो, कोई खोट इस में रहने न पाए




--
Posted By Blogger to कथा सागर on 2/09/2018 10:25:00 am
Image
Mail your articles to swargvibha@gmail.com or swargvibha@ymail.com

Post Reply