हर सितम पर मौन रहते थे ----ठाकुर दास सिद्ध

Post Reply

Post Reply