tarasingh
Administrator Dr. Srimati Tara Singh


www.swargvibha.in






जंगल मेँ कविसम्मेलन

 

 

 

जंगल मेँ एकबार शेर ने

कविसम्मेलन करवाया

बड़े -प्रतिष्ठित कवियोँ को

काव्यपाठ हेतु बुलवाया

बारी -बारी से सबने

कविता खूब सुनाई

बिल्ली मौसी ने भी

ताली खूब बजाई

 


रचनाकार - सागर यादव 'जख्मी

 

 

HTML Comment Box is loading comments...