tarasingh
Administrator Dr. Srimati Tara Singh


www.swargvibha.in






जो बीत गया सो बीत गया

 

 

जो बीत गया सो बीत गया,
उसे देख क्यों पछताता है|

 

जो आने वाला इसे सुधार ले,
क्योंकि कामयाब ही सबको भाता है|

 

जो हार गया सो बात गई,
आगे बढ़ने से क्यों घबराता है|

 

आगे बढ़ना है तो हार भूलजा,
हार से मन डर जाता है|

 

 

अंजनी कुमार मिश्रा

 

 

HTML Comment Box is loading comments...