tarasingh
Administrator Dr. Srimati Tara Singh


www.swargvibha.in






राही

 

 

तकदीर का रोना मत रो ए राही।
खाली हाथ बैठा रह जाएगा।।
मेहनत पर कर भरोसा हे राही।
वरना किस्मत को दोष देता रह जाएगा।।

 

कुछ कर के दिखा ऐसा ऐ राही।
दुनिया देखती रह जाए जिसे।।
नाम न सही ऐसा बदनाम हो ऐ राही।
दुनिया कांप जाए सुनकर जिसे।।

 

मन की सुन भले कहे दुनिया तुझे गलत ।
इसी मे तेरी भलाई है।।
दुनिया की बातों की परवाह मत कर।
इसने सीता पर भी उंगली उठाई है।।

 

 

 

अंजनी कुमार मिश्रा

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...