tarasingh
Administrator Dr. Srimati Tara Singh


www.swargvibha.in






Rumi (From: A Treasury of Wisdom )

 

rumi

 

1.
पानी ने गंदगी से कहा-
"मेरे पास आओ"
गंदगी ने कहा-
"मुझे बहुत शर्म आ रही है"
पानी ने जवाब दिया-
"मेरे सिवा
तुम्हारी शर्म कैसे धुल सकती है?"

 


2.
दुनिया एक क़ैदखाना है
और हम क़ैदी !
क़ैदख़ाने की दीवारों में छेद करके
ख़ुद को आज़ाद कर लो.

 

 


देवी नागरानी

 

HTML Comment Box is loading comments...