tarasingh
Administrator Dr. Srimati Tara Singh


www.swargvibha.in






कब सहिष्णु थे आप ?

 

 

................................

कौन से युग ,किस सदी ,

किस कालखंड में ,सहिष्णु थे आप ?

देवासुर संग्राम के समय ?

जब अमृत खुद चखा

और विष छोड़ दिया

उनके लिए ,

जो ना थे तुमसे सहमत.

दैत्य ,दानव ,असुर ,किन्नर

यक्ष ,राक्षस

क्या क्या ना कहा उनको.

वध ,मर्दन ,संहार

क्या क्या ना किया उनका .

.......................

तब थे आप सहिष्णु ?

जब मर्यादा पुरुषोत्तम ने काट लिया था

शम्बूक का सिर .

ली थी पत्नी की चरित्र परीक्षा

और फिर भी छोड़ दी गई

गर्भवती सीता

अकेली वन प्रांतर में .

या तब ,जब

द्रोण ने दक्षिणा में कटवा दिया था

आदिवासी एकलव्य का अंगूठा .

जुएं में दांव पर लगा दी गयी थी

पांच पांच पतियों की पत्नि द्रोपदी

और टुकर टुकर देखते रहे पितामह .

...............

या तब थे आप सहिष्णु ?

जब ब्रह्मा ने बनाये थे वर्ण

रच डाली थी ऊँच नीच भरी सृष्टि.

या तब ,जब विषमता के जनक ने

लिखी थी विषैली मनुस्मृति .

जिसने औरत को सिर्फ

भोगने की वस्तु बना दिया था .

शूद्रों से छीन लिए गए थे

तमाम अधिकार .

रह गए थे उनके पास

महज़ कर्तव्य .

सेवा करना ही

उनका जीवनोद्देश्य

बन गया था .

और अछूत

धकेल दिये गए थे

गाँव के दख्खन टोलों में .

लटका दी गई थी

गले में हंडिया और पीठ पर झाड़ू

निकल सकते थे वे सिर्फ भरी दुपहरी .

ताकि उनकी छाया भी ना पड़े तुम पर .

इन्सान को अछूत बनाकर

उसकी छाया तक से परहेज़ !

नहीं थी असहिष्णुता ?

.................

आखिर आप कब थे सहिष्णु ?

परशुराम के क्षत्रिय संहार के समय

बौद्धों के कत्लेआम के वक़्त

या महाभारत युद्ध के दौरान .

लंका में आग लगाते हुए

या खांडव वन जलाते हुये .

कुछ याद पड़ता है

आखिरी बार कब थे आप सहिष्णु ?

..............................

अछूतों के पृथक निर्वाचन का

हक छीनते हुए ,

मुल्क के बंटवारे के समय

दंगों के दौरान ,

पंजाब ,गुजरात ,कश्मीर ,पूर्वोत्तर ,

बाबरी ,दादरी ,कुम्हेर ,जहानाबाद

डांगावास और झज्जर

कहाँ पर थे आप सहिष्णु ?

सोनी सोरी के गुप्तांगों में

पत्थर ठूंसते हुए .

सलवा जुडूम ,ग्रीन हंट के नाम पर

आदिवासियों को मारते हुए .

लोगों की नदियाँ ,जंगल ,

खेत,खलिहान हडपते वक़्त .

आखिर कब थे आप सहिष्णु ?

दाभोलकर ,पानसरे ,कलबुर्गी के

क़त्ल के वक़्त .

प्रतिरोध के हर स्वर को

पाकिस्तान भेजते वक़्त

फेसबुक ,ट्वीटर ,व्हाट्सएप

किस जगह पर थे आप सहिष्णु ?

......

प्राचीन युग में ,

गुलाम भारत में

आजाद मुल्क में

बीते कल और आज तक भी

कभी नहीं थे आप कतई सहिष्णु .

सहिष्णु हो ही नहीं सकते है आप

क्योंकि आपकी संस्कृति ,साहित्य ,कला

धर्म ,मंदिर ,रसोई ,खेत ,गाँव ,घर .

कहीं भी नहीं दिखाई पड़ती है सहिष्णुता

सच्चाई तो यह है कि आपके

डीएनए में ही नहीं

सहिष्णुता युगों युगों से ......

 

 

 

 

- भंवर मेघवंशी

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...