tarasingh
Administrator Dr. Srimati Tara Singh


www.swargvibha.in






 

 

गरिमा कान्सकार

 

 

1 जब हालात विपरीत होते है
सच भी झूठ बन जाता है
उस समय चुप रहने को मजबूर हो जाते है हम
जब सच आता है सामने सब शर्मिंदा हो जाते है
 
2 किस्मत मे क्या है
किसको पता है
चाहत और मेहनत से
सबको मिला है
 
3 शक्ति का रुप है नारी
सहनशीलता की मिशाल है नारी
ना अबला है ना बेचारी है
शक्ति से परिपुर्ण है नारी
 
4 सागर से गहरी है
आसमान से ऊंची है
क्या कहे अपनी दोस्ती के बारे मे
ये कितनी अच्छी और सच्ची है
 
 
गरिमा कान्सकार

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...