TOP BANNER

TOPBANNER







flower



july2015
कविताएँ 

आलेख

गज़ल

गीत

मुक्तक

हाइकु

कहानी





संस्थापिका एवं प्रधान सम्पादिका--- डॉ० श्रीमती तारा सिंह
सम्पादकीय कार्यालय--- --- 1502 सी क्वीन हेरिटेज़,प्लॉट—6, सेक्टर—
18, सानपाड़ा, नवी मुम्बई---400705
Email :-- swargvibha@gmail.com
(m) :--- +919322991198

flower5

rosebloom





 

आँखे सजल,कलाई सूनी-सूनी---पीयूष कुमार द्विवेदी 'पूतू'

 

आँखे सजल,
कलाई सूनी-सूनी,
दूर बहन।

 

रोकर सोई,
इंतजार करके,
बहन हारी।

 

मैं हॉस्टल में,
बहन मेरी घर,
दूरी बहुत।

 

काश!पंख हो,
उड़के बँधा आता,
मैं भी राखी।

 

माँ ने बताया,
अभी-अभी बहन,
रोकर सोई।

 

प्रेम की गंध,
पिछले वर्ष की है,
रक्षाबंधन।

 

पीयूष कुमार द्विवेदी 'पूतू'

 

HTML Comment Box is loading comments...