www.swargvibha.in






 

 

26 व 27 दिसम्बर, 2009 ई० को विक्रमशिला हिन्दी विद्यापीठ, ईशीपुर, भागलपुर के 14 वें महाधिवेशन के अवसर पर डोकानिया धर्मशाला, भागलपुर में आयोजित एक भव्य समारोह में मुम्बई की वरिष्ठ साहित्यकार ,डा० श्रीमती तारा सिंह को, उनकी उच्चस्तरीय रचनाधर्मिता एवं सुदीर्घ हिन्दी सेवा के लिए ’ भारतीय भाषा रत्न ’ की मानसेवी उपाधि से अलंकृत किया गया । सभाध्यक्ष एवं विद्यापीठ के माननीय कुलाधिपति ,डा० लारी आज़ाद तथा हिन्दी के अन्तर्राष्ट्रीय विद्वान, डा० बालसौरी रेड्डी के हाथों श्रीमती सिंह को प्रशस्ति –पत्र आदि प्रदान किये गये ।
जैमिनी अकादमी, पानीपत द्वारा 20 दिसम्बर, 2009 को शहीद भगत सिंह स्मारक ,पानीपत में आयोजित, आचार्य चन्द्रमणि वशिष्ट ’पाहाड़ी मृगाल’ स्मृति समारोह में, हिन्दी साहित्य में अभूतपूर्व योगदान एवं सराहनीय उपलब्धियों के लिए वरिष्ठ साहित्यकार, डा० श्रीमती तारा सिंह को ’कवि कृष्णदत्त तुफ़ान पानीपती सम्मान’ से विभूषित किया गया । मुख्य अतिथि व प्रसिद्ध समाज सेवी श्री कपिल बुद्धिराजा तथा सभाध्यक्ष पद्मश्री डा० विजय शाह के हाथों श्रीमती सिंह को प्रशस्ति-पत्र एवं पुष्पमाल्य प्रदान किये गये ।
अब तक श्रीमती सिंह 143 विभिन्न राष्ट्रीय / अन्तर्राष्ट्रीय संस्थानों द्वारा सम्मानित / पुरस्कृत हो चुकी हैं और उनकी 22 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं ।
( डा० बी० पी० सिंह )

 

 

HTML Comment Box is loading comments...