www.swargvibha.in






 

डा० श्रीमती तारा सिंह को ’श्री दीपचन्द जैन सर्वोच्च साहित्य पुरस्कार

दिल्ली की प्रमुख सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था ,राजस्थान रत्नाकर ( पंजी० ) द्वारा 28 मार्च 2010 को फ़िक्की औडिटेरियम, तानसेन मार्ग ,दिल्ली में आयोजित वार्षिक अधिवेशन के अवसर पर ,मुम्बई की वरिष्ठ साहित्यकार, डा० श्रीमती तारा सिंह को ’श्री दीपचन्द जैन सर्वोच्च साहित्य पुरस्कार 2010’ से नवाजा गया । श्रीमती शीला दीक्षित, मुख्यमंत्री, दिल्ली के करकमलों द्वारा श्रीमती सिंह को पुरस्कार स्वरूप ,पन्द्रह हज़ार रुपये नगद, प्रतीक चिह्न, प्रशस्ति पत्र, शाल तथा बुके प्रदान किये गये । इस अवसर पर श्री महेश जोशी ,सांसद, जयपुर और श्री मंगतराम सिंघल,दिल्ली समाज कल्याण एवं श्रम मंत्री जी की उपस्थिति उल्लेखनीय रही ।
अभिव्यक्ति व साहित्य की यशस्वी हस्ताक्षर, डा० श्रीमती तारा सिंह को भोपाल (म० प्र० ) की प्रतिष्ठित संस्था,देव भारती द्वारा दशाब्दी पर्व के अवसर पर पुलिस प्रशिक्षण व शौध संस्थान हाल , भोपाल में आयोजित एक भव्य समारोह में 21 मार्च 2010 को उनकी विशिष्ट साहित्य सेवा एवं सृजनात्मक आराधना के लिए ’देव भारती 2010’ सम्मान से अलंकृत किया गया । श्री डी० एम० धर्माधिकारी, अध्यक्ष, मानवाधिकार आयोग, मध्य प्रदेश तथा भूतपूर्व मुख्यमंत्री, श्री कैलाश जोशी के हाथों श्रीमती सिंह को प्रशस्ति-पत्र, प्रतीक चिह्न, शाल और बुके प्रदान किये गये ।
उच्च स्तरीय रचनाधर्मिता हेतु डा० श्रीमती सिंह को नवलेखन संघ, भोपाल द्वारा ’भाषा भारती रत्न सम्मान’; राजेश्वरी प्रकाशन ,गुना द्वारा ’अक्षर शिल्पी सम्मान,2010’ ; शबनम साहित्य परिषद,सोजत सिटी द्वारा ’फ़ातमा स्मृति सम्मान’ ; भारतीय राष्ट्रीय साहित्यकार संसद,समस्तीपुर द्वारा, ’अमृता प्रीतम राष्ट्रीय शिखर सम्मान’ ; इतिहास और पुरातत्व शोध संस्थान ,बालाघाट द्वारा ’हिन्दी शिरोमणिश्री’ एवं भारतीय पुरस्कार विजेते संघ, मुम्बई द्वारा ’राज्यस्तरीय साहित्य गौरव पुरस्कार’ से आभूषित किया गया । श्रीमती सिंह अब तक 151 विभिन्न राष्ट्रीय / अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाओं द्वारा सम्मानित हो चुकी हैं ।

डा० बी० पी० सिंह
नवी मुम्बई

HTML Comment Box is loading comments...