www.swargvibha.in






 

 

’डाक्टर आफ़ ओरियेन्टल लर्निंग’ ( पी-एच० डी० ) से नवाज़ा गया ।

 

tara singh kolkata

 

कोलकाता में इन्डियन इन्सटिट्यूट आफ़ ओरियेन्टल हिरिटेज़ द्वारा 2 से 5 मार्च, 2013 को महाजाति सदन में आयोजित 36 वें वार्षिक समारोह के अवसर पर, नवी मुम्बई के वरिष्ठ साहित्यकार एवं लोकप्रिय हिन्दी वेबसाइट स्वर्गविभा की स्थापिका, डा० श्रीमती तारा सिंह को वेद, शास्त्र, उपनिषद तथा अन्यान्य सांस्कृतिक धरोहरों / मूल्यों पर आधारित रचनाओं एवं अभूतपूर्व उपलब्धियों के लिये , ’डाक्टर आफ़ ओरियेन्टल लर्निंग’ ( पी-एच० डी० ) से नवाज़ा गया । डा० सत्यनारायण चक्रवर्ती, सभापति व उपकुलाचार्य, रवीन्द्र भारती संस्कृत विश्वविद्यालय तथा डा० रामकृष्ण शास्त्री, अध्यक्ष , इन्डियन इन्सटिट्यूट आफ़ ओरियेन्टल हेरिटेज़ के हाथों, श्रीमती तारा सिंह को प्रशस्ति-पत्र , प्रतीक चिह्न तथा पुष्प-माल्य प्रदान किये गये ।

 

हिन्दी साहित्य सम्मेलन, पटना ( कदम कुआँ ) के सभागार में 16—17 फ़रवरी, 2013 को आयोजित, 36 वें महाधिवेशन के अवसर पर डा० श्रीमती तारा सिंह को उनकी उत्कृष्ट रचनाओं और सुदीर्घ हिदी सेवा हेतु ’कामता प्रसाद सिंह ’काम”, सम्मान से अलंकृत किया गया । प्रो० शशि शेखर तिवारी, पूर्व अध्यक्ष, विश्व विद्यालय सेवा आयोग, बिहार एवं डा० सूर्य प्रसाद दीक्षित, अध्यक्ष, हिन्दी साहित्य सम्मेलन, प्रयाग ने श्रीमती सिंह को प्रशस्ति-पत्र ,शाल और पुष्प-माल्य देकर सम्मानित किया ।

 

इसी बीच डा० सिंह को उनकी प्रशंसनीय हिन्दी सेवा हेतु , विक्रमशिला हिन्दी विद्यापीठ, भागलपुर द्वारा, ’राष्ट्र गौरव सम्मान’ ; प्रांजलि प्रकाशन, सागर द्वारा, ’महाकवि पद्माकर स्मृति स्वरूप सृजनश्री सम्मान—2012’ ; मध्य प्रदेश पत्र लेखक संघ, बेतूल द्वारा ’मन की आवाज सम्मान—2012’ एवं हिमालय और हिन्दुस्तान द्वारा ’हिमालय और हिन्दुस्तान राष्ट्रीय रत्न सम्मान—2012’ से विभूषित किया गया । अब तक डा० सिंह 221 राष्ट्रीय / अन्तर्राष्ट्रीय संस्थानों द्वारा सम्मानित / पुरस्कृत हो चुकी हैं ।

 

डा० बी० पी० सिंह

अध्य्क्ष,स्वर्गविभा, मुम्बई

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...