www.swargvibha.in






 

 

प्रधानमंत्री इन्द्र कुमार गुजराल की 96वीं जयंती

 

 

gujral

 

 

गुजराल जी हिन्दी, उर्दू और पंजाबी भाषा में निपुण थे : डॉ. प्रदीप देवघर (_________________________): वतन के 13वें प्रधान मंत्री इन्द्र कुमार गुजराल हिन्दी, उर्दू और पंजाबी भाषाओँ में निपुण होने के साथ साथ अन्य कई भाषाओँ के भी जानकार थेँ और शेरों-शायरी में काफी दिलचस्पी रखते थें । वे विदेश नीति के विशेषज्ञ थेँ । इसी कारण पड़ोसी देश पाकिस्तान के साथ सम्बन्ध सुधरने के लिए उन्होंने कड़े और मह्त्वपूर्ण कदम उठायें ....उक्त बातें विवेकानन्द शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं क्रीड़ा संस्थान तथा योगमाया मानवोत्थान ट्रस्ट के युग्म बैनर तले गुजराल जी की 96वीं जयंती के अवसर पर संस्थान के केन्द्रीय अध्यक्ष डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव ने कहा । उन्होंने आगे कहा- आज ही के दिन सन् 1919 में गुजराल जी का जन्म हुआ था । उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में सक्रिय रूप से हिस्सा लिया था और 1942 के "भारत छोड़ो आंदोलन" के दौरान वे जेल भी गए ।अप्रैल, 1997 में भारत के प्रधानमंत्री बनने से पहले उन्होंने केंद्रीय मंत्रिमण्डल में विभिन्न पदों पर काम किया । वे संचार मंत्री, संसदीय कार्य मंत्री, सूचना प्रसारण मंत्री, विदेश मंत्री और आवास मंत्री जैसे मह्त्वपूर्ण पदों पर रहें राजनीति में आने के पहले उन्होंने कुछ समय तक बी.बी.सी. की हिन्दी सेवा में एक पत्रकार के रूप में भी कम किया । अन्य वक्ताओं ने भी उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला । प्रभाकर कापरी द्वारा धन्यबाद ज्ञापन के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ ।

 

 

PRADIP KUMAR SINGH Deo

 

 

HTML Comment Box is loading comments...