www.swargvibha.in






 

 

जनसुलभ साहित्यमाला की 12 पुस्तकों का विमोचन

 

जनसुलभ साहित्यमाला की 12 पुस्तकों का विमोचन विश्व पुस्तक मेले में संपन्न हुआ. अनेक गणमान्य साहित्यकार और साहित्यप्रेमी उपस्थित थे. ये 12 पुस्तकें हैं-

कहानी

कमरा नंबर 103 : सुधा ओम ढींगरा

इमराना हाज़िर हो : महेशचंद्र द्विवेदी

कहानियाँ अमेरिका से : सं. इला प्रसाद

कुत्तेवाले पापा : मीना अग्रवाल

प्रेमचंद की कालजयी कहानियाँ : सं. डॉ. कमलकिशोर गोयनका

लघुकथाएँ मानव-जीवन की : सं. सुकेश साहनी, रामेश्वर कांबोज 'हिमांशु'

व्यंग्य

दूध का धुला लोकतंत्र : गोपाल चतुर्वेदी

आदमी और कुत्ते की नाक : डॉ. गिरिराजशरण अग्रवाल

सच का सामना : हरीशकुमार सिंह

व्यंग्य-एकांकी

अफलातून की अकादमी : डॉ. शिव शर्मा

सिनेमा

सिनेमा, साहित्य और संस्कृति : नवलकिशोर शर्मा

कविता

मान भी जा छुटकी : गीतिका गोयल

प्रत्येक पुस्तक का मूल्य है 50 रुपए. सभी पुस्तकें मँगाने पर डाक व्यय सहित केवल 500 रुपए में भेज दी जाएँगी. आशा है, आप इन्हें मँगाना पसंद करेंगे.

प्रकाशक : हिंदी साहित्य निकेतन, 16 साहित्य विहार, बिजनौर (उ.प्र.) 246701

दूरभाष : 01342-263232; 0124-4076565; 07838090732, 09412712789

गुडगाँव संपर्क: एफ 403, पार्क व्यू सिटी-2, सोहना रोड, गुडगाँव

दूरभाष : 0124-4076565; 07838090732

--
Dr. Giriraj Sharan Agrawal
16 sahitya Vihar
Bijnor

 

 

HTML Comment Box is loading comments...