www.swargvibha.in






 

 

लाला लाजपत राय की 151 वीं जयंती मनाई गई

 

 

lajpatrai

 

लाजपत राय आज भी अमर है राष्ट्रप्रेमियों के दिल में - डॉ. प्रदीप देवघर (______________________): स्थानीय विवेकानन्द शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं क्रीड़ा संस्थान तथा योगमाया मानवोत्थान ट्रस्ट के युग्म बैनर तले ताज ऑडिटोरियम में वतन के महान् स्वतंत्रता सेनानी लाला लाजपत राय की 151 वीं जयंती मनाई गयी । मौके पर विवेकानन्द संस्थान के केन्द्रीय अध्यक्ष सह योगमाया ट्रस्ट के राष्ट्रीय सचिव डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव ने कहा- आज ही के दिन सन् 1865 में पंजाब के फिरोजपुर के मोगा तहशील में ढोडि ग्राम में पंजाब केशरी लाला लाजपत राय का जन्म एक अत्यन्त निर्धन वैश्य परिवार में हुआ था । भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में पंजाब के जिन वीर सपूतों ने अपना अविस्मरणीय योगदान दिया था, उनमें लाला लाजपत राय का अमिट स्थान है । साहस, धैर्य, लगन, संघर्ष के प्रति वे महान देशभक्त थे । उनकी माता गुलाब देवी धार्मिक संस्कारों वाली महिला थी, पिता राधाकृष्ण एक साधारण अध्यापक थे । उन्होंने हाई स्कूल की परीक्षा लाहौर से उत्तीर्ण की और बाद में अरबी, उर्दू, भौतिक विज्ञान के साथ कोलकाता से ऑनर्स परीक्षा उत्तीर्ण की । वकील बनकर सामाजिक तथा व्यक्तिगत आकांक्षा पूरी की । उन्होंने बंग-भंग आन्दोलन के साथ सक्रिय राजनीति में भाग लेते हुए सर्वप्रथम अंग्रेजों के पिट्ठू नेताओं व देशद्रोहियों की जमकर आलोचना की । सन् 1921 में उन्होंने सविनय अवज्ञा आंदोलन में पंजाब का नेतृत्व किया । 30 अक्टूबर, 1928 में जब साइमन कमीशन भारत आया, तो लालाजी ने "साइमन कमीशन लौट जाओ" का नारा दिया और उनके ओजस्वी भाषण को सुनकर जनता ने अंग्रेज सरकार के विरुद्ध लालाजी के नेतृत्व में हिस्सा लिया । इनके क्रन्तिकारी तेवर से घबराकर अंग्रेज सरकार ने लाठियाँ बरसानी शुरू कर दी । 17 नवम्बर, 1928 को लाठियों के संघातिक वार से उनकी मृत्यु हो गयी । भले वे आज हमारे बीच नहीँ हैं, परन्तु हमेशा राष्ट्रप्रेमियों के दिल में राज करेंगे । योगमाया ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष प्रभाकर कापरी ने कहा- लालाजी एक देशभक्त,समाजसेवी,पत्रकार के साथ-साथ साहित्यकार भी थे । उन्होंने मैजिनी, गैरिवाल्डी, शिवाजी, कृष्ण, दयानन्द आदि की जीवनियां भी लिखी । मॉडर्न मोन्टेस्सोरी अकादमी के शिक्षक अजय नन्दन, संस्थान के किशोर सदस्य आदर्श सिंह व अन्य ने भी उनके व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला ।

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...