www.swargvibha.in






 

 

साहित्यकार महेन्द्र श्रीवास्तव का निधन

 

m srivastava

 

उज्जैन।नगर के वरिष्ठ साहित्यकार, शिक्षाविद् शब्द प्रवाह के वरिष्ठ मार्गदर्शक महेन्द्र श्रीवास्तव जी का 30 मई को सुबह मुम्बई मे अवसान हो गया।
82 वर्ष की उम्र मे भी युवा जैसे जोश के धनी महेन्द्रजी का तन कमजोर हो रहा था पर वे मन से मजबूत थे ,साहित्य के प्रति उनकी निष्ठा गजब की थी उनकी 8 कृतियाँ प्रकाशित हो चुकी थी, और एक नई कृति वे लिख भी रहे थे,डाक टिकट संग्राहक के रूप मे भी उनकी अलग पहचान थी , म.प्र. के सर्वश्रेष्ठ डाक टिकट संग्राहक थे कई बार राष्ट्रीय निर्णायक मंडल के सदस्य भी रहे । साथ ही उनके पास सिक्को का भी बडा संग्रह था ।
त्रैमासिक शब्द प्रवाह के लिए उनका योगदान अवस्मरणीय है.....उनका जाना पूरे साहित्य जगत व परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है.

प्रेषक
संदीप सृजन
संपादक शब्द प्रवाह
उज्जैन

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...