www.swargvibha.in






 

 

प्रेम व शांति का संदेश देता है क्रिसमस : आर्चबिशप भोपाल

 

bishop

 

भोपाल, 20th दिसंबर 2014।

क्रिसमस एक अनोखा पर्व है जो ईश्वर के प्रेम, आनंद एवं उद्धार का संदेश देता है।

क्रिसमस का त्योहार अब केवल ईसाई धर्म के लोगों तक ही सीमित नही रह गया है,

बल्कि देश के सभी समुदाय के लोग इसे पूरी श्रद्धा और उल्लास के साथ मनाते हैं।

क्रिसमस मानव जाति के उद्धार के लिए परमेश्वर के द्वारा की गई पहल को दर्शाने वाला त्योहार भी है।

इसी पहल और सर्वधर्म समभाव की परम्परा का नजारा तुलसी नगर में सेवा सदन में

आयोजित क्रिसमस स्नेह मिलन समारोह में देखने कोमिला।

कार्यक्रम में उपस्थित आर्चबिशप भोपाल डॉ लियो कार्नेलियो ने कहाकि प्रभु यीशू संदेश

वर्तमान में आधुनिक समाज के लिए और ज्यादा प्रासंगिक हो गए हैं। उनके संदेशों का पालन करना एक चुनौतीपूर्ण काम है, जो विश्वास से ही संभव है। उन्होंने कहा कि यीशू की वाणी मन और मस्तिष्क को

शुद्ध करती है क्रिसमस को इंसानियत का पर्व बताते हुये , उन्होंने आगे कहा कि प्रभु यीशु ने दया, प्रेम, शांति और करुणा का जोसंदेश दिया है वह

पूरे विश्व कल्याण के लिए है। उनके पवित्र संदेशों से ही विश्व की कई समस्याओं का समाधान संभव है। उनके संदेश समाज में परिवर्तन ला सकते हैं।

इस मौके पर भोपाल आर्चडाइअसीस के स्पोकपर्सन, डॉ.फादर जॉनी पीजे, पीआरओ

फादर सोलोमन एस ,असिस्टेंट पीआरओ फादर शाजी ई स्टेनिसलौस

सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

स्पोकपर्सन डॉ. फादर जॉनी पीजे ने कहा कि क्रिसमस शांति व प्रेमका संदेश देता है, जिससे यह त्यौहार सभी को मिल जुलकर मनाना चाहिए। ताकि समाज में सभी धर्म के लोगों में आपसी भाईचारा कायमहो सके।


पीआरओ फादर सोलोमन एस ने कहा कि क्रिसमस शांति व प्रेम का पढ़ाने के साथ भाईचारेकी सीख भी देता है। हम सभी प्रभु यीशु के आगमन काल की खुशी मेंक्रिसमस गैदरिंग कार्यक्रम का आयोजन करते हैं और एक साथ मिलकरखुशियां मनाते हैं। प्रभु यीशु ने प्रेम, शांति व सदभावना का संदेश देने के लिए अपने इकलौते पुत्र यीशु को
हमारे बीच भेजा था। वे हमें अपने शरण में लेते हुए हमें आशीष प्रदान करते हैं।

 

 

HTML Comment Box is loading comments...