www.swargvibha.in






 

 

रानी दुर्गावती बलिदान दिवस लोकरंग प्रस्तुति-गिरीश बिल्लोरे

 

 

durgawati

 

“ठाओ बारहा को जावे है जित रानी को चौरा ”
बाल भवन में रानी दुर्गावती बलिदान दिवस पर लोकरंग प्रस्तुति सम्पन्न ।


जबलपुर/ वीरांगना रानी दुर्गावती के बलिदान दिवस पर म.प्र. शासन के महिला सशक्तिकरएा संचालनालय द्वारा संचालित संभागीय बाल भवन गढ़ाफाटक जबलपुर मुख्य अतिथि सहित्यकार, कवि श्री मोहन शशि जी साथ ही बाल भवन के संचालक गिरीश बिल्लोरे, आसुरिड संस्था से श्रीमती शिखा पाण्डेय. व निदान संस्थान से श्री मनीष व्यास एवं श्रीमती अर्चना जोशी की उपस्थिती में रानी दुर्गावती बलिदान दिवस पर भावनात्मक स्मरण किया गया ।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने कहा : इस अवसर बच्चों को वीरांगना के आत्मोत्सर्ग की कहानी अवगत कराते हुए कहा कि- वीरांगना का आत्मोत्सर्ग हमें आज़ादी की कीमत से परिचित कराता है । कवि स्वर्गीय पूरणचंद्र श्रीवास्तव की पंक्तियों का ज़िक्र करते हुए कहा कि – बलिदानी वीरांगना की समाधि पर जाने मात्र से मन भावातिरेक से भर जाता है । हमें सदा देश के लिए आत्मोत्सर्ग के लिए भी तत्पर रहना चाहिए ।
बाल कलाकार कु. नीति शर्मा के मंच संचालन में बाल भवन के कलाकारों ने वीरांगना रानी दुर्गावती पर आधारित लोक गीतो को संगीत अनुदेशक सुश्री शिप्रा सुल्लेरे के निर्देशन में लोकनृत्य पंथी,करमा,बधाई,राई की प्रस्तुति लोकनृत्य कार्यशाला प्रशिक्षक श्री इन्द्र पाण्डेय व कु. अंकिता गिनारा के निर्देशन में की गई। साथ ही बाल भवन के चित्रकला छात्रों ने वीरांगना रानी दुर्गावती के चित्र प्रदर्शित किये। इस अवसर पर प्रतिभागीयों को मुख्य अतिथी श्री शशि ने पुरुस्कृत किया।
कार्यक्रम में लोकगीतों को सार्थक रजक, सजल सोनी, करन द्विवेदी, हर्ष सोंधिया, देवकुमार, राम कोरी, और लोकनृत्यों में कु.वंशिका दुबे, आयुषि तिवारी, शिवानी विश्वकर्मा प्रियंका सानी, मिनी दयाल, प्रतीक्षा सोनी, अंजली रैकवार, हर्षिता गुप्ता, परिधि जैन, आशी जैन, आदि बाल कलाकारों ने प्रस्तुतिंया दी है । कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन श्री पीयूष खरे ने किया ।

गिरीश बिल्लोरे
संचालक संभागीय बाल भवन

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...