www.swargvibha.in






 

 

अखिल भारतीय शब्द प्रवाह साहित्य सम्मान 2016 घोषित

 

उज्जैन ( म.प्र. )शब्द प्रवाह साहित्यिक सांस्कृतिक एवं सामाजिक मंच उज्जैन द्वारा 2016 के अखिल भारतीय पुरस्कारो की घोषणा की गई । मंच की कार्यकारिणी समिति द्वारा "शब्द साधक "सम्मान वरिष्ठ साहित्यकार डॉ शिव शर्मा एवं श्री नरेन्द्र श्रीवास्तव नवनीत को, श्रीमती सरस्वती सिंह स्मृति सम्मान मुर्घन्य साहित्यकार और सुप्रसिद्ध शायर दरवेश भारती (दिल्ली) को एवं श्रीमती माया मालवेन्द्र बदेका शब्द प्रवाह गौरव सम्मान श्री देवेन्द्रकुमार मिश्रा (छिंदवाड़ा) को प्रदान करने का निर्णय लिया गया ।
साथ ही मंच द्वारा साहित्य की विभिन्न विधाओं पर प्राप्त हुई पुस्तकों में से हिन्दी कविता विधा समग्र के क्षेत्र में प. ज्वाला प्रसाद शांडिल्य 'दिव्य ' (हरिद्वार ) की कृति "मन के आखर चार" , लधुकथा के लिए डॉ. अंजुलि कंसल 'कनुप्रिया'( इंदौर) की कृति "कथा शतक" व्यंग्य के लिए श्री नरेन्द्र श्रीवास्तव (गडरवाड़ा) की कृति "लाइन में आईये" को प्रथम पुरस्कार हेतु चयनित किया गया । साथ ही स्व. श्रीमती सत्यभामा शुकदेव त्रिवेदी गीतकार सम्मान के लिए डॉ. बी.के. मिश्रा (मुजफ्फरनगर)की कृति "अनुभूतियाँ" ,स्व. बालशौरि रेड्डी बाल साहित्य सम्मान के लिए श्रीमती प्रतिमा अखिलेश (सिवनी) की कृति "रंगमंच के नन्हे तारे " इजी.प्रमोद शिरढोणकर विरहमान स्मृति नई कविता सम्मान के लिए श्रीमती मंदाकिनी श्रीवास्तव (दंतेवाड़ा)की कृति "छुअन सप्त रंग की "एवं इजी. प्रमोद शिरढोणकर स्मृति कहानी सम्मान के लिए संयुक्तरूप से श्री विजयकुमार (सिकंदराबाद) की कृति "एक थी माया " तथा डॉ. इंदु गुप्ता (फरिदाबाद)की कृति "स्वागत जिंदगी " को सम्मानित किया जाएगा ।साहित्यकारों को यह पुरस्कार/सम्मान मार्च में आयोजित संस्था के वार्षिक समारोह में प्रदान किये जाएँगे ।
हिंदी कविता समग्र, लघुकथा और व्यंग्य के लिए द्वितीय, तृतीय और प्रोत्साहन पुरस्कार भी घोषित किए गये जिसकी सूची निम्न है -
कविता के लिए (द्वितीय पुरस्कार) -अनकहे स्वप्न - आशा शर्मा(बीकानेर )शबनमी जज्बात - श्री बैकुंठनाथ (अहमदाबाद) ताना बाना -श्री हरेराम वाजपेयी (इंदौर)कुछ मेरी कुछ तुम्हारी - श्रीमती श्रीति राशिनकर (इंदौर)पटरी पर दौड़ता आदमी- श्री स्वप्निल शर्मा (मनावर)
कविता के लिए (तृतीय पुरस्कार)परत दर परत सच - श्री संतोष कुमार सिंह (मथुरा)गीत सुनो तुम मेरे -डॉ. दिवाकर दिनेश गौड़ (गोधरा)सुरज भी क्यों बंधक- श्री शिवानंद सिंह सहयोगी (मेरठ) ईश्वर सोचता है - श्रीमती सुमन शेखर (कांगड़ा)मन इकतारा मन बंजारा - श्रीमती छाया त्रिवेदी (जबलपुर)अनुभूत -डॉ. चित्रा जैन (उज्जैन)सीकर सुमन खिले - श्री रामनारायण कुवाल (उज्जैन)
कविता के लिए (प्रोत्साहन पुरस्कार)मेरे हिंदुस्तान में-डॉ. संगमलाल त्रिपाठी भंवर (प्रतापगढ़ ) काशी- डॉ. कीर्तिवल्लभ शाक्टा (चांपावत)मंगल माहिया - डॉ. शिवमंगलसिंह मंगल (लखनऊ ) तेरे आने से - श्री अशोक गर्ग असर (खरगोन)अबकी शाम बहुत बतियाये- डॉ. राकेश कुमार सिंह (आगरा)चमचों का इंटरव्यू -श्री सतीशचंद्र शर्मा सुधांशु (बदायू)खोलो मन के द्वार - श्री गोविंद सेन (मनावर)यही बहुत है - श्री देवेन्द्रकुमार मिश्रा (छिंदवाड़ा)आंगन की प्रीत - श्री गोपीनाथ कालभोर (खंडवा)सिर्फ तुम - श्री ओमप्रकाश हयारण दर्द (झांसी)बिखरे भाव का गणित- श्री संकर्षण प्रजापति (लखनऊ) धूप के रंग - श्रीमती रेणु चंद्रा (जयपुर) वह बजाती ढोल- श्री कारुलाल जमड़ा (जावरा)बंद मुठ्ठी में सूरज- श्री आलोक भारती (जयनगर)वतन के चिराग- श्री रमेशचन्द चांगेसिया प्रभात (बड़नगर) आज कल के लिए- श्री लक्ष्मीनारायण कोष्टी (गुना)गुबार - श्री जयंती प्रसाद शर्मा (अलिगढ़)
लघुकथा के लिए (द्वितीय पुरस्कार) भींगी पलके - श्री दिलीप भाटिया (रावतभाटा)समय के साथ- श्री घमंडीलाल अग्रवाल (गुड़गांव)सत्य की खोज- श्री आलोक भारती (जयनगर)
लघुकथा के लिए (तृतीय पुरस्कार)थोड़ी सी हँसी - श्रीमती माला वर्मा (हाजी नगर)
लधुकथा के लिए (प्रोत्साहन पुरस्कार)यगाना- श्रीमती राजकुमारी नायक ( जबलपुर)

व्यंग्य के लिए (द्वितीय पुरस्कार)स्वर्गवासी होने के सुख- श्री ललित भाटी (इंदौर)

 

 

 

प्रेषक
-संदीप सृजन

 

 

HTML Comment Box is loading comments...