www.swargvibha.in






 

 

शिक्षा, शिक्षक एवम् राष्ट्र संगोष्ठी...

 

 

siksha

 

व्यवहारिक शिक्षा-पद्धति में जीवन और शिक्षण साथ साथ चलते हैं : प्रो.गांगुली देवघर (_________________________): स्थानीय विवेकानन्द शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं क्रीड़ा संस्थान तथा देवघर जिला प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के युग्म बैनर तले कुरेवा स्थित आर्य मिशन विद्यापीठ में "शिक्षा,शिक्षक एवं राष्ट्र" जिला स्तरीय संगोष्ठी का आयोजन धूमधाम से संपन्न हुआ ।कार्यक्रम के प्रारम्भ में आर्य मिशन विद्यापीठ की छात्राएँ गणेश वंदना और स्वागत गान प्रस्तुत किया । तत्पश्चात एसोसिएशन के अध्यक्ष श्रीकांत झा, विवेकानन्द संस्थान के केन्द्रीय अध्यक्ष डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव, मुख्य अतिथि सतसंग कॉलेज के प्राचार्य प्रो. गौरव गंगोपाध्याय, विशिष्ट अतिथि रेड रोज स्कूल के प्राचार्य रामसेवक सिंह ‛गुंजन' व मातृ मंदिर बालिका उच्व विद्यालय की पूर्व प्राचार्या शोभना सिंह को एसोसिएशन के सदस्यगण शाल व पुष्प-गुच्छ से स्वागत किया । मौके पर मुख्य अतिथि प्रो. गंगोपाध्याय ने कहा- शिक्षा ऐसी होनी चाहिए कि पढ़ाई के साथ साथ स्वस्थ समाज का गठन हो सके, विद्याथियों में चारित्रिक विकास हो सके । प्राचीन भारत में शिक्षा का उद्देश्य विद्यार्थी को बहुमुखी प्रतिभा का धनी बनाया था । उसे भौतिक ज्ञान के साथ -साथ आत्मज्ञानी भी बनाना था । गुंजन जी ने कहा- शिक्षक के साथ साथ माता पिता को भी अच्छा संस्कार देना होगा । सिर्फ स्कूल को थोप देने से नहीँ होगा । स्कूल में बच्चे सिर्फ 5 घंटे ही रहते है । शिक्षकों को भी ईमानदारीपूर्वक अपना कर्तव्य निभाना होगा । श्रीकांत झा ने कहा- यदि वशिष्ठ नहीँ होता तो राम नहीँ होते, श्रीकृष्ण नहीँ होते तो अर्जुन नहीँ होता....इसलिए शिक्षकों की भूमिका ऐसी होनी चाहिए जिससे विश्य कल्याण के लिए विद्यार्थी तैयार हो सके । श्रीमती सिंह ने की उदाहरणों से विषय वस्तु पर प्रकाश डाला । मौके पर देवघर सेंट्रल स्कूल के प्राचार्य सुबोध कुमार झा, आर्य मिशन विद्यापीठ के निदेशक सुरेन्द्र कुमार, मैत्रेया स्कूल के निदेशक सोमेश दत्त मिश्रा, देवस्थली विद्यापीठ के निदेशक पवन कुमार आर्य, कर्मसंभव इंटरनेशनल स्कूल के प्राचार्य डॉ. राजीव रंजन सिंह व अन्य ने भी विषय वस्तु पर प्रकाश डाला । धन्यबाद ज्ञापन हृदया वसंत स्कूल के प्राचार्य ने किया जबकि मंच संचालन विवेकानन्द संस्थान के कोषाध्यक्ष प्रभाकर कापरी ने किया ।पूरे कार्यक्रम को सफल बनाने में एसोसिएशन के सचिव प्रेम कुमार, संत कोलंबस के प्राचार्य गौरव शंकर, आर्य मिशन विद्यापीठ के शिक्षकवृन्द व एसोसिएशन के सभी शिक्षकों की अहम् भूमिका रही । आज के संगोष्ठी में संत माइकल एंग्लो विद्यालय के निदेशक डॉ. जय चंद्र राज, प्रीविजन स्कूल के राज कुमार दूबे, कैरियर स्कूल के पंकज भट्टाचार्य, माउंट कार्मेल पब्लिक स्कूल के राजीव कुमार रंजन व वंदना रंजन, संत औरोबिन्दो के अजय कुमार शर्मा, रोहिणी पब्लिक स्कूल के केशव कुमार पाण्डेय, मॉडर्न मोन्टेस्सोरी के आर.के.वर्मा, अजय नंदन, ए. बी.वी. विद्या मंदिर के ए. पी. वर्मा, शम्भू मंडल, अवध बिहारी यादव, लिटिल बड्स स्कूल के कौशल कुमार झा, क्रेयॉन्स प्ले स्कूल एंड एकाडेमी के अमित कुमार, जैक एंड जिल स्कूल के सुकांत ठाकुर, नेशनल पब्लिक स्कूल के सौरव कुमार, श्री शंकरा मिशन स्कूल, जसीडीह के विजय प्रताप सनातन, राज कुमार सिंह, न्यू विज़न स्कूल की बिभा सिंह सहित लगभग पचास शिक्षकों की भागीदारी रही ।

 

 

 

PRADIP KUMAR SINGH Deo

 

 

HTML Comment Box is loading comments...