www.swargvibha.in






 

 

सास पुण्य सलिला मां सूर्यपुत्री ताप्ती द्वारा पौत्र वधु गंगा का आखिर हुआ एतिहासिक शुद्धिकरण

 

ganga

 

बैतूल, अपने तो अपने होते है की तर्ज पर पुण्य सलिला मां सूर्यपुत्री ताप्ती जी से अपनी पौत्र वधु गंगा का मैलापन देखा नहीं गया और वह अपने मानस पुत्रो के संग अपनी जन्म स्थली मुलताई से 1175 किलोमीटर दूर अपनी धारा के विपरीत देवभूमि ऋषिकेश पहुंची जहां पर मध्यप्रदेश , जम्मू सहित पूरे देश भर से आए पत्रकारो की मौजूदगी में जलधारा के रूप में गंगा में समाहित हो गई। देश - दुनिया के इतिहास में पहली बार किसी पुण्य सलिला को दुसरी पुण्य सलिला के जल से शुद्धिकरण किया गया है। मां सूर्यपुत्री ताप्ती जागृति समिति मध्यप्रदेश एवं मां ताप्ती जागृति मंच के संयुक्त प्रयास से संभव हुए इस कार्यक्रम में मां ताप्ती के बैतूल जिले से गए मानस पुत्रो एवं पुत्रियों के समूह में मध्यप्रदेश, जम्मू, सहित देश के अन्य राज्य के पत्रकार एवं बुद्धिजीवी वर्ग भी शामिल थे। सबसे अच्छी बात तो यह रही कि इस अभियान में सभी धर्मो के अनुयायी भी शामिल थे। मध्यप्रदेश के आइसना महासचिव विनय जी डेविड , आई एफ डब्लयू जे सबंद्ध श्रमजीवी पत्रकार संघ जम्मू के सरदार हरचरण सिंह, प्रमुख रूप से कार्यक्रम में शामिल हुए। देवभूमि ऋषिकेश के परमार्थ गंगा घाट पर आयोजित कार्यक्रम में प्रातः सवा नौ बजे सम्पन्न हुए कार्यक्रम में ऋषिकेश की यूएनआई एवं नेटवर्क टेन की पत्रकार सुश्री विनीता खुराना विशेष रूप से उपस्थित हुई। कार्यक्रम के पूर्व समिति के प्रदेश अध्यक्ष रामकिशोर पंवार ने महाभारत के आदिपर्व में मौजूद प्रमाण के आधार पर सूर्यपुत्री मां ताप्ती के पुत्र राजा कुरू के वंश में बिहाई गंगा एवं ताप्ती जी के रिश्ते के बारे में बताया। श्री पंवार ने बताया कि गंगा शुद्धिकरण की उनके मन में तब इच्छा प्रबल हुई जब उन्होने केदारनाथ में हुई प्राकृतिक आपदा के बाद मानव शवो एवं जल को प्रदुषण करने वाली सामग्री के प्रवाह के बाद गंगा का मैलापन देखा। श्री पंवार के अनुसार उन्होने बकायदा मां सूर्यपुत्री ताप्ती से प्रार्थना करने के बाद उनके जल से गंगा शुद्धिकरण का संकलप लिया तथा मां पुण्य सलिला ताप्ती से उनके संग ऋषिकेश चलने का अनुरोध किया। इस कार्य में गायत्री परिवार मुलताई से जुडी श्रीमति मीना लीलाधर नारद के संग ताप्ती जागृति मंच से जुडी श्रीमति निर्मला जगदीश पंवार, श्रीमति वर्षा शीतलदास तायवडे, श्रीमति तृप्ति मनोज नांदुलकर, श्रीमति शांती कैलाश चोपडे, श्रीमति विद्या लक्ष्मण साहू , श्रीमति नीतू नंदकिशोर पंवार , श्रीमति रूक्मिणी रामकिशोर पंवार सहित अन्य महिलाए पदाधिकारी ने भी गंगा शुद्धिकरण अभियान में बढ चढ कर भाग लिया। मुलताई से प्रमुख रूप से जगदीश पंवार, डॉ कैलाश चोपडे, लीलाधर नारद, मनोज नांदुलकर, लक्ष्मण साहू , श्री शीतलदास तायवडे, बैतूल से पंडित मनोज शर्मा, रामचरण अतुलकर, मां ताप्ती जागृति मंच के संरक्षक श्री हरिप्रसाद बरमैया, मोहित पंवार, अश्विनी कुमार, कु. पंवार के अलावा भोपाल से विनय जी डेविड, रायसेन से डॉ कमलेश गौर, प्रमुख रूप से गंगा शुद्धिकरण यात्रा में शामिल थे। जागृति मंच की ओर से रामकिशोर पंवार ने उतरप्रदेश के महामहीम राज्यपाल श्री जोशी को ताप्ती पुराण एवं ताप्ती हलचल का ताप्ती विशेषांक भेट किया, इसी तरह श्री लीलाधर नारद ने उतराखंड के राज्यपाल को ताप्ती पुराण एवं ताप्ती हलचल का ताप्ती विशेषांक भेट किया। श्री हरिप्रसाद बरमैया ने परमार्थ निकेतन के स्वामी चित्यानंद जी को गंगा आरती के पूर्व ताप्ती पुराण भेट किया। देश - प्रदेश से आए बुद्धिजीवियों , पत्रकारो, राजनेताओं को ताप्ती पुराण भेट किया गया ताकि मां पुण्य सलिला ताप्ती का महात्मय जन - जन तक पहुंचे।

 

 

 

 

Ramkishore Pawar

 

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...