www.swargvibha.in






 

 

25 वां स्थापना दिवस मना सुमन्त कुमार तिवारी एवं अमन चक्र पुरस्कृत

 

silverjublee

 

स्वास्थ्य की दिशा में इनकी सराहणीय भूमिका- उपनिदेशक डॉ राजेश्वर सिंह

प्रतिभायों को सम्मान देने की जरूरत- अंचल पदाधिकारी जे0के0 मिश्रा

समाज उत्थान के लिए सभी को सामूहिक प्रयास की जरूरत- पी0के0 सिद्धार्थ

वतन के मिटठी का वे कर्ज क्या चुकाऐगें, मां के दुध का जो कर्ज अदा नहीं करते

आज दिनांक 25.01.2015 को ग्रामीण समाज कल्याण विकास मंच का 25 वां स्थापना दिवस स्थानीय आई0एम0ऐ0 हॉल में मनाया गया। इस अवसर पर राष्ट्रीय एकता एवं भाईचारा के लिए कवि सम्मेलन व मुशायरा का आयोजन किया गया। कवि सम्मेलन की अध्यक्षता मिर्जा खलिल बेग व संचालन मंच के सचिव मो0 हशमत रब्बानी ने की। मुख्य अतिथि के रूप में स्वास्थ्य उपनिदेशक डॉ0 राजेश्वर सिंह एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में सदर अंचल पदाधिकारी श्री जे0के0 मिश्रा तथा पूर्व आई0पी0एस0 श्री पी0के0 सिद्धार्थ शामिल हुए। इस अवसर पर ग्रामीण समाज कल्याण विकास मंच के सलाहकार समिति के सदस्य, शीवशंकर प्रसाद, पकंज कुमार श्रीवास्तव, 25 वां स्थापना दिवस पर हर साल की भाँति इस वर्ष भी स्व0 नईमुद्दीन अंसारी सद्भावना पुरस्कार 2015 से सम्मानित किया गया। जिसमें पहला सुमन्त कुमार तिवारी को विकलांग होते हुए सैकड़ो लोगों को रोजगार से जोड़ने एवं समूह निर्माण में उत्कृष्ट योगदान के लिए इन्होंनंे लगभग 100 स्वयं सहायता समूह बनाकर लोगों के हित कि लिए कार्य किया। दोनों पैर से लाचार होने के बावजूद सारा जीवन इन्होंनंे समाज सेवा में लगा दिया। इनकी पहचान मूर्तिकला में भी है। इन्होंनंे इग्नू से एम0ऐ0 किया है।

अमन चक्र पेटिंग एवं कार्टूनिस्ठ के क्षेत्र में योगदान के लिए, 1996 से रेखाचित्र से आरम्भ कर अखबार और पत्रिकाओं में ख्याति प्राप्त सुमित श्रीवास्तव 1993 में ग्रेजुऐषन के पष्चात अमन चक्र तक का सफर तय किया, 1990 से 2014 तक कई प्रदषर्निया स्वयं आयोजित किए और कई कार्टून की किताबें एवं चित्रकथा तैयार किए। 2000 में इप्टा से जुड़े, 2002 में ग्रामीण समाज कल्याण विकास मंच से जुड़कर कई सामाजिक मुद्दे पर चित्रकथा तैयार किए उसके बाद इनका मुख्य विशय महिला एवं बच्चे रहे।वत्र्तमान में ये कशिश कृऐटिव आर्ट सेंटर के संचालक है एवं थर्ड आई - दैनिक समाचार सध्या से जुड़े है। इनको सम्मान मंच के अध्यक्ष पंकज कुमार श्रीवास्तव, सुभासचन्द्र मिश्रा एवं मिर्जा खलिल बेग संयुक्त रूप से दिये।

मंच परिचय ः अध्यक्ष श्री पंकज कुमार श्रीवास्तव ने परिचय देते हुए कहा कि ग्रामीण समाज कल्याण विकास मंच एक निबंधित संस्था है जिसकी स्थापना 1990 एवं निबन्धन 1993 ई0 में हुई, तब से लेकर आज तक यह प्रगति के पथ पर निर्बाध गति से बढ़ रही है। समाज में कई ऐसे मानसिक रोगी है, जो जन्मजात है या कई हादसा स्वरूप पागल बन बैठे है। परिवार के लोग उन्हें भाग्य भरोसे छोड़ देते है। किन्तु हमारी संस्था ने ऐसे लोगों का पता कर कई मानसिक रोगियों का मुफ्त इलाज करवाया एवं उन्हें समाज के मुख्य धारा से जोड़ने की कोशिश की ।

हमारी संस्था महिलाओं की स्थिती में सुधार के लिए भी कार्य कर रही है डायन प्रथा नियंत्रण के लिए लगभग 25000 युवाओं व प्रबुद्ध नागरिकों के हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। आर0एन0टी0सी0पी0 एवं स्वास्थ्यकर्मीयों के साथ मिलकर पिछले दो वर्षो में 10331 से अधिक बलगम की जाँच कराकर 1122 से अधिक टी0बी0 मरीजों को चिन्हित किया गया एवं पुणरिक्षित यामा नियंत्रण कार्यक्रम के साथ समन्वय कर दवा उपलब्ध कराई गयी, महिला यौन कर्मियों को एच0आई0वी0 जाँच कराकर स्वास्थ्य सुविधाएं दी गयी।
मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित आर0डी0डी0एच0 डॉ राजेश्वर सिंह ने कहा कि ग्रामीण समाज कल्याण विकास मंच शुरू से ही समाज कल्याण का कार्य करती रही है। हम लोग इनका इस कार्य में सहयोग करते रहे है एवं स्वास्थ्य विभाग भी इनका सहयोग कर रहा है। स्वास्थ्य से जुड़ कर टी0बी0 मानसिक स्वास्थ्य, एडस कन्ट्रोल, डायन प्रथा, कन्या भ्रूण हत्या आदि विषय पर भी कार्य कर रही है। खास कर स्वास्थ्य की दिशा में इनकी सराहणीय भूमिका रही है।

स्व0 नईमुद्दीन अंसारी सद्भावना पुरस्कार 2015 से सम्मानित के पश्चात अपना उदगार व्यक्त करते हुए अंचल पदाधिकारी श्री जे0के0 मिश्रा ने कहा कि प्रतिभायों को सम्मान देने की जरूरत बताई।
इससे पूर्व उदघाटन समारोह में बोलते हुए पी0के0 सिद्धार्थ ने जागो भारत उठो इण्डिया नामक सी0डी0 संस्था को भेंट की कविता पढ़ी एवं कहा कि समाज उत्थान के लिए सभी को सामूहिक प्रयास की जरूरत है। इस अवसर पर शिवशंकर प्रसाद एवं आई0एम0ऐ0 सचिव डॉ अवधेश कुमार ने भी अपना विचार व्यक्त किया।

मंच के सचिव मो0 हशमत रब्बानी ने सुमंत कुमार तिवारी को पुरस्कृत करने के बाद कहां कि जवा हो अज्म तो तारे भी ठूट सकते है, कठिन नहीं है कोई काम इंसान के लिए। सुमंत कुमार तिवारी को अंचल पदाधिकारी श्री जे0के0 मिश्रा एवं स्वास्थ्य उपनिदेशक डॉ राजेश्वर सिंह ने संयुक्त रूप से दिया।
जाने माने शायर अलाउद्धीन चिराग ने काह कि दुश्मनों से भी प्यार करता हॅू, और ये खता बार-बार करता हूॅ। जो अपने और सगे लोगों को भला किया तो क्या किया, वतन के खातिर भी कुछ करों।
जाने माने शायर कामख्या प्रसाद सिंह ने कहा कि सबके शांति का बीज जो बोये, उसके जीवन में सदैव हर दिन मंगल होय।

शमिम रिजवी ने कविता पढ़ते हुए कहा कि वतन के मिटठी का वे कर्ज क्या चुकाऐगें, मां के दुध का जो कर्ज अदा नहीं करते।
कवि एवं शायर प्रमुख रूप से विनिता असर, हरिवंश प्रभात, अलाउद्धीन शाह चिराग, अरशद जमाल, मकबुल मंजर, मो0 बेलाल, हसनैन खां, समिम अहमद राइन, विजय प्रसाद शुक्ला, सत्य नारायण पाण्डे आदि ने अपनी कविता पढ़ी। इस अवसर पर पलामू जिले के समाजसेवी संस्था के प्रतिनिधि मौजूद थे।

ग्रामीण समाज कल्याण विकास मंच के सलाहकार सदस्य श्री शिवशंकर प्रसाद द्वारा सभी कवि एवं शायरों को दायरी और पेन दे कर सम्मानित किया साथ ही पलामू जिले के विभिन्न संस्था के प्रतिनिधि को भी सम्मानित किया एवं अमन नेटवर्क से जुड़ने का अवाहन किया। धन्यवाद ज्ञापन मंच के कोषाध्यक्ष सुश्री स्वर्णलता रंजन ने किया।

मो0 हशमत रब्बानी
सचिव
ग्रामीण समाज कल्याण विकास मंच
9431159447

 

 

HTML Comment Box is loading comments...