www.swargvibha.in






 

 

मुम्बई साहित्यकार तारा सिंह सम्मानित


2009 के 7 और 8 नवम्बर को संस्कृति भवन सभागार, महावीर मार्ग,अलवर ( राज० ) में, जगमग दीपज्योति पत्रिका के रजत जयन्ती वर्ष के अवसर पर आयोजित,एक भव्य समारोह में, मुम्बई की सुप्रसिद्ध साहित्यकार, डा० श्रीमती तारा सिंह को उनकी उत्कृष्ट रचनाधर्मिता ,सुदीर्घ साहित्य सेवा और बहुआयामी सशक्त साहित्यिक उपलब्धियों के परिपेक्ष्य में ’स्व० श्री विजय कुमार जैन स्मृति सम्मान’ द्वारा अलंकृत किया गया । जैन संत,आचार्य श्री दिव्यानन्द विजय जी महाराज ( निराले बाबा ) के हाथों श्रीमती सिंह को प्रशस्ति–पत्र, 1100/- रुपये नकद, प्रतीक चिह्न, शाल एवं कई बहुमूल्य पुस्तकें प्रदान किये गये ।
25 अक्टूवर 2009 को साहित्यिक सांस्कृतिक कला संगम अकादमी,परियावाँ द्वारा माता मइया धर्मशाला,परियावाँ के प्रांगण में आयोजित वार्षिक सम्मान समारोह में श्रीमती तारा सिंह को उच्च-स्तरीय रचनाओं एवं सारस्वत साहित्य साधना के लिए ’साहित्य मार्तण्ड’ मानद उपाधि व ’विवेकानन्द सम्मान’; आसरा संस्था, बलदेव ( मथुरा ) द्वारा ’साहित्य भूषण’ मानद उपाधि तथा ग्राम-भारती संस्था, आलापुर द्वारा ’साहित्य मार्तण्ड’ मानदोपाधि देकर सम्मानित किया गया ।
5 अक्टूवर 2009 को अखिल भारतीय साहित्य संगम, आयड़ (राज० ) द्वारा श्रीमती सिंह को साहित्यिक क्षेत्र में उनकी अभूतपूर्व उपलब्धियों के लिए उन्हें ’कलम कलाधर’ मानद उपाधि से विभूषित किया गया । अब तक श्रीमती सिंह, 139 विभिन्न राष्ट्रीय / अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों द्वारा सम्मानित / पुरस्कृत हो चुकी हैं और उनकी 22 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं

 

 

HTML Comment Box is loading comments...