www.swargvibha.in






 

 

यूरी गागरिन एवम् गुडरिक एकेसन की जयंती..

 

gagarin    gudrik

 

साइंस आर्गेनाईजेशन ने मनाई यूरी गागरिन एवम् एडवर्ड गुडरिक एकेसन की जयंती देवघर(________________________): विपनेट, विज्ञान प्रसार, नई दिल्ली द्वारा पंजीकृत स्थानीय साइंस एण्ड मैथमेटिक्स डेवलपमेंट आर्गेनाईजेशन के बैनर तले ताज ऑडिटोरियम में वैज्ञानिक यूरी गागरिन एवम् एडवर्ड गुडरिक एकेसन की जयंती मनाई गई । मौके पर आर्गेनाईजेशन के राष्ट्रीय सचिव डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव ने कहा कि, आज ही के दिन सन् 1934 में गागरिन का जन्म हुआ था । सोवियत अंतरिक्ष यात्री गागरिन जो 12 अप्रैल, 1961 में अंतरिक्ष में जाने वाले दुनिया के पहले व्यक्ति बने । वे वोस्तोक-1 अंतरिक्ष यान के पायलट के रूप में चुने गए । वे दुबारा अंतरिक्ष में नहीँ गए लेकिन दूसरे विमान चालकों को वे प्रशिक्षण देते रहे । इसी प्रशिक्षण के दौरान 27 मार्च, 1968 को एक हादसे में उनकी मौत हो गई । गुडरिक के सन्दर्भ में डॉ. देव ने कहा, आज ही के दिन सन् 1856 में उनका जन्म हुआ था । उन्होंने अपघर्षक कार्बोरैण्डम् का आविष्कार किया जो हीरे के बाद दूसरा सबसे कठोर पदार्थ होता है ।इसके अलावे इन्होंने ग्रेफाइट निर्माण करने का एक तरीका भी खोजा । 6 जुलाई,1931 को उनकी मृत्यु हुई । आर्गेनाईजेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. जय चन्द्र राज ने कहा- इन दोनों वैज्ञानिकों की देन को भुलाई नहीँ जा सकती है । सदस्य प्रभाकर कापरी ने कहा- आज ही के दिन सन् 1882 में न्यूयॉर्क के चार्ल्स एम. ग्राहम ने कृत्रिम दाँत का पेटेंट कराया । सदस्य आदर्श कुमार ने कहा- आज ही के दिन सन् 1948 में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय तथा परमाणु ऊर्जा आयोग ने साइक्लोट्रॉन द्वारा कृत्रिम रूप से मीसॅन कण की घोषणा की ।

 

 

PRADIP KUMAR SINGH Deo

 

 

HTML Comment Box is loading comments...