www.swargvibha.in






दर्द दिल में दबाये बैठे हैं

 

dardedil

 

-----------------------------------
दर्द दिल में दबाये बैठे हैं
जाने ये किस तरह के हैं नाते
जिनको हम भूल ही नहीं पाते
उनको हम याद भी नहीं आते
-----------------------------------
- बृजेश यादव

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...