www.swargvibha.in






अनुराग अतुल

 

 

"आये बड़े भूचाल , तो भी लिखते रहे !
हम हो गए बेहाल , तो भी लिखते रहे !

 

जब 'दाल में काला' था तो लिख रहे थे हम,
'काले में हुई दाल' तो भी लिखते रहे....!"

 

 


(अनुराग अतुल )

 

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...