www.swargvibha.in






रवि श्रीवास्तव

 

 

बदल देते तस्वीर ज़माने की,
दो कदम अगर वो मेरे साथ चले।

आंसू किसी और के गिरते है,
दुख मुझे होता है।

 

 

 

HTML Comment Box is loading comments...